google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
राजनीति

“गुंडे वसूलते थे रंगदारी, कर लेते थे जमीन पर कब्जा, आप पहले अपना देखें” ; शब्द बाण राजभर के

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

ज़ीशान मेहदी की रिपोर्ट 

उत्तर प्रदेश में अक्सर अपने बयानों से लगातार सुर्खियों में रहने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उन्हें नसीहत दे डाली। इस दौरान उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव  को दूसरों के बारे में बोलने से पहले अपना देखना चाहिए। उनकी सरकार में आजमगढ़ में रंगदारी वसूली जाती थी। गुंडे पैसे लेकर जाते थे। इसीलिए जनता ने सपा को वोट नही दिया। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि AC कमरों में बैठकर राजनीति नहीं होती, जिसने भी AC में बैठकर राजनीति की उसका हश्र सबके सामने है।

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0106(1)

IMG-20220916-WA0106(1)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

दरअसल, राज्यमंत्री दिनेश खटीक को लेकर अखिलेश यादव ने एक ट्वीट किया गया था। जहां उन्होंने कहा था कि जहां मंत्री होने का सम्मान तो नहीं परंतु दलित होने का अपमान मिले। ऐसी भेदभावपूर्ण बीजेपी सरकार से त्यागपत्र देना ही अपने समाज का मान रखने के लिए यथोचित उपाय है। इस दौरान जौनपुर पहुंचे समाजवादी पार्टी के सहयोगी दल सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से जब पत्रकारों ने सवाल किया तो उन्होंने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उन्हें नसीहत दे डाली।

राजभर बोले- सपा सरकार में आजमगढ़ में रंगदारी वसूलते थे गुंडे

वहीं, ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव जी को दूसरे के बारे में कुछ भी बोलने से पहले समाजवादी पार्टी की सरकार के बारे में सोचना चाहिए। जब उनकी सरकार थी तब क्या हो रहा था। उन्होंने आजमगढ़ और रामपुर उपचुनाव हारने का कारण भी बता दिया। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ उपचुनाव में जब वह प्रचार करने गए तो आजमगढ़ के लोगों ने उनसे बताया कि समाजवादी पार्टी की सरकार में वहां के व्यापारियों से रंगदारी वसूली जाती थी। गुंडे पैसे वसूलकर ले जाते थे। लोगों की जमीनें कब्जा कर ली जाती थीं। जबकि बीजेपी की सरकार में ऐसा नहीं है। इसलिए आजमगढ़ के मतदाताओं ने उनसे साफ बता दिया था कि वह लोग समाजवादी पार्टी को वोट न देकर बीजेपी को वोट देंगे। ओमप्रकाश राजभर ने आजमगढ़ के मतदाताओ का तर्क सही बताते हुए इसे ही समाजवादी पार्टी की दुर्गति का प्रमुख कारण बताया है।

AC कमरों की राजनीति बंद करें सपा अध्यक्ष

जौनपुर में ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव जी AC की राजनीति करते हैं। AC की राजनीति करने की वजह से ही कांग्रेस में 2 और बसपा में 1 बचे हैं। उन्होंने कहा कि AC की राजनीति का हश्र बहुत बुरा होता है। आजमगढ़ और रामपुर का उपचुनाव हारने का यही बड़ा कारण है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि एक तरफ़ बीजेपी के लोग गांव-गांव जनता के बीच जा रहे है। दूसरी तरफ अखिलेश जी AC कमरो में बैठकर ट्वीट करके राजनीति कर रहे हैं। रेगुलर क्लास करनें और गेस पेपर पढ़कर पास होने में अंतर है। राजभर ने कहा कि रेगुलर क्लास करने वाला मेरिट लाएगा डिकटेंशन से पास होगा। जबकि गेस पेपर के सहारे वाले किसी तरह पास होंगे। उन्होंने कहा कि AC में बैठकर वोट मांगने वालों को जनता वोट नही देती।

राष्ट्रपति चुनाव मे वोट देने पर बोले राजभर

राष्ट्रपति चुनाव में वोट देने के सवाल पर ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि एक तरफ गृह मंत्री, मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री और उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने खुद उनसे वोट मांगा। दूसरी तरफ़ चुनाव लड़ने वाला प्रत्याशी और लड़ाने वाला कोई उनसे बात तक नहीं की और न ही वोट मांगा। ऐसे में वह और क्या करते। उन्होंने कहा कि बाबा साहब आंबेडकर, ज्योतिबा फुले और छत्रपति शाहूजी महाराज जी के विचारों को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने राष्ट्रपति के चुनाव में द्रौपदी मुर्मू जी को वोट दिया।

जानिए 2024 पर ओमप्रकाश राजभर क्या बोले?

वहीं, सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने जौनपुर में कहा कि अभी तो वह समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में है। 2024 के सवाल पर उन्होंने कहा कि जब अखिलेश यादव जी उन्हें तलाक देंगे तब वह बताएंगे कि वह किस दल के साथ होंगे। उन्होंने कहा कि वह तलाक नहीं लेंगे, वह चाहते हैं कि समाजवादी पार्टी से उनका गठबंधन बना रहे वह अखिलेश के साथ रहें। अखिलेश जी को तलाक लेने हो तो वह लें। इस दौरान लुलु मॉल विवाद पर राजभर बोले कि इससे करीब 5 से 6 हज़ार लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि अभी वहां करीब 2 हज़ार लोगों को रोजगार मिला है। साथ ही हनुमान चालीसा और नमाज पर उन्होंने कहा कि मुस्लिम नमाज और हिन्दू हनुमान चालीसा पढ़ेगा ही। उन्होंने कहा कि हिन्दू हनुमान चालीसा नही पढ़ेगा तो क्या नमाज पढ़ेगा।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close