राजनीति

बेहिसाब हसरतें न पालिए….जो मिला उसे संभालिये…आएंगे तो मोदी ही’ ; संसद में कुछ खास पूछा ही नहीं सांसद हेमा मालिनी ने….

IMG_COM_20240207_0941_45_1881
IMG_COM_20240401_0936_20_9021
IMG_COM_20240508_1009_02_1332
IMG_COM_20240508_1009_01_9481

चुन्नीलाल प्रधान की रिपोर्ट

मथुरा की सांसद हेमा मालिनी ने संसदीय डिबेट में केवल 20 बार ही हिस्सा लीं। औसत पूछे गए सवालों से 59 कम सवाल पूछीं। बाकी सांसदों ने औसतन 1 या 2 प्राइवेट मेंबर बिल पेश किया, लेकिन हेमा मालिनी एक भी प्राइवेट मेंबर बिल पेश नहीं की हैं।

तारीख थी 12 फरवरी और साल 2024। संसद में उस दिन बजट सत्र का आखिरी दिन था। संसद के बाहर भाजपा सांसद हेमा मालिनी से एक पत्रकार ने सवाल किया कि क्या उनको ये लगता है कि राम के नाम पर विरोध करने से विपक्ष को लोकसभा चुनाव में फायदा मिलेगा? 

IMG_COM_20231210_2108_40_5351

IMG_COM_20231210_2108_40_5351

हेमा ने कहा, ‘बेहिसाब हसरतें ना पालिये, जो मिला उसे संभालिये… आएंगे तो मोदी ही।’ मथुरा के लिए सांसद हेमा मालिनी ने कितना काम किया है आइए रिपोर्ट कार्ड में जानते हैं।

यूपी के सांसदों के एवरेज में से केवल 20 संसदीय डिबेट में हिस्सा लिया

हेमा मालिनी की डिबेट में हिस्सेदारी 20

डिबेट में हिस्सा लेने का नेशनल एवरेज 46.1

यूपी के सांसदों का एवरेज 60.2

सोर्सः पीआरएस

डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सख्त कानून, मथुरा को दिल्ली-एनसीआर में शामिल करने की मांग, बड़े किसानों और छोटे किसानों के बीच समझौते की नीति बनाने पर रहा फोकस।

-डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सख्त कानून की मांग की

-सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019

-मथुरा में गोवर्धन के विकास की मांग

-पशुओं पर क्रूरता रोकने के लिए मजबूत पशु संरक्षण कानून की मांग

-मंत्री से आगरा किला से मथुरा होते हुए काठगोदाम तक ट्रेन और मथुरा से अलीगढ़ तक सीधी ट्रेन शुरू करने का आग्रह

सवाल पूछने के मामले में कमजोर साबित हुईं ड्रीम गर्ल

हेमा मालिनी ने कुल सवाल पूछे 105

संसद में सवाल पूछने का नेशनल एवरेज 210

यूपी के सांसदों के सवाल पूछने का एवरेज 151

समय काल 01 जून 2019 से लेकर 09 फरवरी 2024 तक

सोर्सः पीआरएस

यूपी की ताजा खबरें- UP News in Hindi

हेमा मालिनी ने आयुर्वेद आहार उत्पाद, एक भारत श्रेष्ठ भारत, कचरा मुक्त शहर पर पूछे सवाल…

मेरा युवा भारत

आयुर्वेद आहार उत्पाद

प्रसाद योजना के तहत तीर्थ स्थलों का विकास

आयुष्मान भारत योजना (ABY)

किसानों की आय दोगुनी करना

प्राइवेट मेंबर बिल लाने में जीरो रहीं हेमा मालिनी

सांसद रहते हेमा मालिनी सांसद एक भी प्राइवेट मेंबर बिल पेश करने में असफल रहीं।

प्राइवेट मेंबर बिल पेश करने का नेशनल एवरेज 1.5

यूपी के सांसदों का एवरेज 1.3

समय काल: 01 जून 2019 से लेकर 09 फरवरी 2024 तक

सोर्सः पीआरएस

प्राइवेट मेंबर बिल एक विशेषाधिकार है। इस अधिकार के तहत सांसद संसद में अपने विवेक से एक प्राइवेट बिल लेकर आते हैं। हालांकि शर्त यह है कि वही सांसद इस बिल को पेश कर सकते हैं जिनके पास कोई मंत्री पद नहीं है।

मथुरा के विकास के लिए मिले बजट का इस्तेमाल करने में आगे रहीं आगे

कुल प्रस्तावित सैंक्शन बजट 17 करोड़ रुपए

कुल बजट मिला 7 करोड़ रुपए

कुल खर्च हुआ 6.55 करोड़ रुपए

बचा हुआ बजटः 0.45 करोड़ रुपए

समय काल 01 जून 2019 से लेकर 09 फरवरी 2024 तक

सोर्सः एमपी लैड्स

एवरेज बेहतर है हेमा मालिनी की संसद में हाजिरी

संसद में हेमा मालिनी की हाजिरी 88% रही

सांसदों के हाजिरी का नेशनल एवरेज 79%

यूपी के सांसदों के हाजिरी का एवरेज 83%

समय काल: 01 जून 2019 से लेकर 09 फरवरी 2024 तक

सोर्सः पीआरएस इंडिया

इसी मथुरा सीट पर अटल बिहारी वाजपेयी की हुई थी जमानत जब्त

कहानी बड़ी दिलचस्प है। दरअसल, साल था 1957। देश में जब दूसरे आम चुनाव हुए तो भाजपा के सबसे बड़े नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने भारतीय जनसंघ के टिकट पर यहां से किस्मत आजमाई। लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया। वह न केवल मथुरा से चुनाव हारे बल्कि उनकी जमानत तक जब्त हो गई थी।

samachar

"कलम हमेशा लिखती हैं इतिहास क्रांति के नारों का, कलमकार की कलम ख़रीदे सत्ता की औकात नहीं.."

Tags

samachar

"कलम हमेशा लिखती हैं इतिहास क्रांति के नारों का, कलमकार की कलम ख़रीदे सत्ता की औकात नहीं.."
Back to top button

Discover more from Samachar Darpan 24

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Close
Close