google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
खास खबर

सवाल किया अखिलेश यादव ने और लपेट लिया योगी जी ने; आप भी पढ़िए राजनीतिक नोंकझोंक

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

अंजनी कुमार त्रिपाठी की रिपोर्ट  

No Slide Found In Slider.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधान सभा में मंगलवार को पक्ष-विपक्ष में तीखी बहस हुई। पूर्व मुख्‍यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने सूबे की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था पर सवाल उठाए। जवाब देने खुद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ खड़े हुए और एक-एक करके एसपी चीफ के आरोपों पर पलटवार किया। अपनी सरकार में स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में हुए काम गिनाते हुए योगी ने अखिलेश पर खूब तंज कसे। योगी ने कहा कि ‘हमें विरासत में जो विकृति मिली थी, उसी को हम सुधार रहे हैं।’ योगी ने भाषण की शुरुआत में कहा, ‘नेता प्रतिपक्ष की बातों से स्‍पष्‍ट हो रहा था कि पर उपदेश कुशल बहुतेरे… उनको यह नहीं पता था कि वह जो बोल रहे हैं, किसको बोलना चाहते हैं। प्रदेश में चार बार समाजवादी पार्टी की सरकार रही है।’ सीएम योगी ने विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य सर्वे का हवाला देते हुए कहा क‍ि उत्‍तर प्रदेश की स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में पिछले पांच वर्षों में बेहतरीन सुधार हुआ है।

जब सपने तार-तार होते हैं तो… अखिलेश पर योगी का तंज

सीएम ने विधान सभा में सपा प्रमुख पर खूब तंज कसे। योगी ने कहा, ‘गोरखपुर की चर्चा नेता प्रतिपक्ष ने की। बोलते-बोलते उनको बहुत सारी चीजें याद आती हैं। स्‍वाभाविक रूप से जब कोई चीज… और खासतौर पर जनता जनार्दन अपना फैसला करके दे ही देती है… सपने जब तार-तार होते हैं तो उसका दुख तो होगा ही… और उनकी बातों में दुख झलक रहा था।’

इंसेफेलाइटिस के आंकड़े गिनाकर अखिलेश को दिया जवाब

योगी ने कहा, ‘ये सीजन पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के लोगों के लिए हमेशा भय का प्रतीक होता था। एक कंपकंपी छूटती थी जुलाई से लेकर के नवंबर तक। इंसेफेलाइटिस से प्रतिवर्ष वहां पर 1200, 1500, दो हजार तक मौतें होती थीं। अकेले गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज… पांच-पांच सौ मौतें अकेले उस मेडिकल कॉलेज की छत के नीचे होती थीं। जनपदों में जो मौतें हो रही थीं वो अलग थीं, जो अस्‍पतालों तक नहीं पहुंच पाते थे, वे अलग थीं। डबल इंजन की सरकार का प्रभाव है और संयुक्‍त कार्यवाही का परिणाम है कि आज इंसेफेलाइटिस से मौतें जीरो तक पहुंच रही हैं।

योगी ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार चार बार प्रदेश में रही और एक बार भी इंसेफेलाइटिस से होने वाली मौतों पर संवेदना नहीं व्‍यक्‍त की गई। इसपर अखिलेश ने टोकते हुए कहा कि ‘जिन अस्‍पतालों में इलाज हो रहा है, वो किसने बनवाए?’ इसपर सत्‍तापक्ष से शोर उठा तो विधान सभा अध्‍यक्ष ने कहा कि बीच में टोकाटाकी न करें।

‘कोरोना, वैक्‍सीन और अखिलेश…’

सीएम योगी ने कोविड-19 महामारी के दौरान अखिलेश के ‘गायब’ रहने पर भी चुटकी ली। उनके ‘बीजेपी की वैक्‍सीन’ वाले बयान पर भी तंज कसा। योगी ने कहा कि पता नहीं कोरोना के वक्‍त नेता प्रतिपक्ष कहां चले गए थे। सीएम ने कहा, ‘कोरोना वैक्‍सीन ने देशवासियों को संबल दिया लेकिन कुछ लोगों ने कोरोना कालखंड में जनता जनार्दन का ध्‍यान तो नहीं रखा लेकिन दुष्‍प्रचार में कोई कसर नहीं बाकी रखी। कभी वैक्‍सी के खिलाफ करते थे, कभी किसी और चीज पर… नकरात्‍मक माहौल बनाने का काम करते थे।’

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close