google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
देवरिया

विभाजन विभीषिका दिवस पर निकाली मौन जुलूस

विभाजन विभीषिका प्रदर्शनी का जीआईसी में हुआ आयोजन, उमड़े लोग

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

राकेश तिवारी की रिपोर्ट 

देवरिया। 14 अगस्त विभाजन विभीषिका दिवस के अवसर पर 1947 के ऐतिहासिक विभाजन में अपनी जान गंवाने वाले लाखों व्यक्तियों के सम्मान में आज एक मौन जुलूस का आयोजन ग्राम्य विकास राज्य मंत्री विजय लक्ष्मी गौतम एवं जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में किया गया।

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0106(1)

IMG-20220916-WA0106(1)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

मौन जुलूस न्यू कॉलोनी स्थित पार्क से प्रारंभ होकर जलकल रोड, कोतवाली रोड होते हुए जीआईसी पहुँची, जहाँ विभाजन की त्रासद गाथा को वक्त करने वाली प्रदर्शनी का अवलोकन लोगों द्वारा किया गया। मौन जुलूस में विभाजन की विभीषिका झेलने वाले सिंधी एवं पंजाबियों, उनके वंशज सहित बड़ी संख्या में नागरिक शामिल हुए।

जिलाधिकारी ग्राम्य विकास राज्य मंत्री विजय लक्ष्मी गौतम ने बताया कि 1947 में भारतीय उपमहाद्वीप में लोगों का बड़े पैमाने पर विस्थापन हुआ था। लगभग 10 लाख लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। साठ लाख से अधिक लोग पश्चिमी पंजाब, सिंध से आये थे। बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए और उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा। महिलाओं के साथ बर्बरता बरती गई। ऐसे में उन अनाम व्यक्तियों के प्रति भी सम्मान व्यक्त करना हमारा नैतिक कर्तव्य है, जिन्होंने देश के विभाजन की कीमत चुकाई।

विभाजन विभीषिका दिवस के अवसर पर जीआईसी में एक प्रदर्शनी का आयोजन भी किया गया है। प्रदर्शनी का उद्घाटन सांसद डॉ रमापति राम त्रिपाठी द्वारा किया गया। विधायक डॉ शलभ मणि त्रिपाठी, नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह सहित विभिन्न गणमान्य लोगों ने विभाजन विभीषिका प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

प्रदर्शनी में विभाजन से जुड़े राष्ट्रीय अभिलेखागार के अभिलेखों का प्रदर्शन किया गया है। विभाजन में अंग्रेजों की भूमिका, मुस्लिम लीग की भूमिका, विभाजन के दौरान अनिश्चित भविष्य की यात्रा करते लोग, तत्कालीन प्रेस का नजरिया, महिलाओं के साथ हुई हिंसा की भयावहता को उकेरते चित्र शामिल हैं। बड़ी संख्या में लोगों ने इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया। लोगों को राष्ट्र की एकता व अखंडता सुरिक्षत रखने के लिए शपथ भी दिलाई गई।

विभाजन विभीषिका मौन जुलूस के उपरांत जिलाधिकारी ने भी इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, विधायक प्रतिनिधि राजू मणि, एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, एडीएम वित्त एवं राजस्व नागेंद्र कुमार सिंह, मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद, एसडीएम सौरभ सिंह, डीआईओएस विनोद कुमार राय सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close