google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
Gondaपरसपुर

जमीनी रंजिश को लेकर गैर समुदाय के लोगों ने कर दी जमकर पिटाई, पीड़ित पक्ष के समर्थन में उतरे व्यापारी

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

आर के मिश्रा की रिपोर्ट

परसपुर, गोण्डा। परसपुर कस्बा के चौक बाजार में आक्रोशित व्यवसायियों ने अपनी दुकानें बंद करके पुलिस प्रशासन के विरुद्ध उस समय नारेबाजी शुरू किया। जब पुलिस की मौजूदगी ने विशेष समुदाय के लोगों ने एक युवक की पिटाई कर दी और पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशबीन रही है। पुलिस की नाकामी को लेकर आक्रोशित लोगों ने श्रीराम जानकी मंदिर पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिससे पुलिस प्रशासन के हाथ पाँव फूल गये।

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0106(1)

IMG-20220916-WA0106(1)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

थाना परसपुर प्रभारी निरीक्षक समशेर बहादुर सिंह,क्षेत्राधिकारी कर्नलगंज मुन्ना उपाध्याय व एसडीएम कर्नलगंज हीरालाल, व अपर पुलिस अधीक्षक गोण्डा शिवराज ने मौके पर पहुँचकर घटना की जानकारी लिया।

बताया जा रहा है कि परसपुर कस्बा स्थित बड़ी मस्जिद के बगल हिन्दू समुदाय की जमीन है। जिसके सम्बन्ध में वाद विवाद मामला माननीय उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। रविवार के दोपहर में कुछ मुस्लिम लोग मस्जिद के सामने की विवादित भूमि पर हस्तक्षेप करते हुए कोई कार्य रहे थे। इस पर हिन्दू समुदाय के भूमि मालिकान के रोकने पर विपक्षियों द्वारा पुलिस की मौजूदगी में जमकर पिटाई कर दी गयी। और पुलिस मूकदर्शक बनी कारनामा देखती रही। फिर क्या देखते ही देखते सैकड़ो की संख्या में आक्रोशित व्यवसायियों ने अपनी अपनी दुकानें बंद करके प्रदर्शन शुरू कर दिया।

आक्रोशित लोगों ने सीबीएन मार्ग को जाम करके पुलिस प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी किया। सड़क के दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी कतारें लग गयी। परसपुर कस्बा के श्रीराम जानकी मंदिर पर जुटी प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने आरोपियों के गिरफ्तारी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। वहीं प्रशासन मानमनौव्वल में लगा रहा लेकिन नतीजा शून्य ही रहा।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close