google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
काण्डीगढ़वाझारखंड

पिता पुत्र की एक साथ मौत से व्याकुल हो उठा पूरा समाज

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

संवाददाता- विवेक चौबे

No Slide Found In Slider.

गढ़वा : जिले के कांडी थाना क्षेत्र अंतर्गत खुटहेरिया पंचायत के गरदाहा गांव के चौहान टोला से शनिवार को एक साथ पिता व पुत्र की दो अर्थी निकली। जैसे ही गुजरात से एम्बुलेंस पिता व पुत्र के शव को लेकर घर तक पहुंचा, वहां उपस्थित सैकड़ो महिला व पुरुष एक साथ चीत्कार कर उठे।

ज्ञात हो कि गरदाहा गांव के चौहान टोला निवासी 50 वर्षीय रामनाथ बैठा की मृत्यु इलाज के दौरान 22 सितम्बर को गुजरात राज्य के भरूच जिला अंतर्गत अंकलेश्वर के रुद्रा अस्पताल में हो गयी। जबकि 22 पुत्र वर्षीय गुड्डू रजक की मृत्यु 24 सितम्बर को 4 बजे सुबह में घर आते समय मिर्जापुर के नजदीक एम्बुलेंस में ही हो गयी। गुड्डू एम्बुलेंस से अपने पिता का पार्थिव शरीर को लेकर घर आ रहा था की उसकी भी मृत्यु हो गयी।

गांव के ही ठीकेदार मिथिलेश ठाकुर ने बताया कि दोनों ही पिता-पुत्र जून महीने में मेरे ठीकेदारी में गुजरात राज्य के भरूच जिला अंतर्गत अंकलेश्वर नामक शहर में बी डी बिल्डकॉन नामक कंपनी में मजदूरी करते थे। रामनाथ 20 सितंबर तक काम किये हैं। 21 को उनकी तबियत खराब होने पर नजदीक के रुद्राक्ष अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया। जहां एक दिन भर्ती रहे। 22 को तबियत और गंभीर हो गयी, पेट फूल गया व पेशाब भी रुक गया तो उन्हें दूसरे अस्पताल रुद्रा में भर्ती किया गया, जहां इलाज के दौरान सुबह साढ़े आठ बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्हें डॉक्टरों ने डेंगू बुखार बताया था। उनका खून का प्लेटलेट घट कर मात्र 41 हजार रह गया था। पुत्र गुड्डू का भी इलाज वहां हुआ था। उसका प्लेटलेट्स 1लाख 40 हजार थी।रास्ते में आते समय भोपाल में एक अस्पताल में गुड्डू को तीन घंटा भर्ती किया गया था, जहाँ एक बोतल पानी भी चढ़ाया गया था। डॉक्टरों के द्वारा गुड्डू की स्थिति ठीक कहने पर वह घर के लिए चला, लेकिन घर तक नही पहुंच सका व रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

मृतक रामनाथ का परिवार गरीब परिवार है। ग्रामीणों ने बताया कि रामनाथ अपना घर बनाने की इच्छा लेकर पिता व पुत्र मजदूरी करने बाहर गए थे, लेकिन ईश्वर को यह मंजूर नही था कि उनका घर बने। उधर पिता व छोटा भाई की मृत्यु की खबर सुनकर बड़ा पुत्र पप्पू रजक की भी तबियत खराब हो गयी, जिसे इलाज के लिए मझिआंव ले जाया गया।पत्नी व माँ सरिता देवी व चाची कुंती देवी की भी स्थिति खराब है, जिसे पीएचसी कुशहा के डॉक्टर मदन ने पहुंच कर जांच पड़ताल कर दवा दिए व पानी चढ़ाया।चाची कुंती देवी का भी इलाज हुआ, जिनका बीपी 156/92 हो गया था।

एक साथ पिता व पुत्र दो लोगों की मृत्यु की सूचना पर अंचलाधिकारी अजय कुमार दास ने मौके पर पहुंच कर पीड़ित परिवार से मिलकर सांतावना दिया। मृतक की पत्नी सरिता देवी से मिल कर उन्होंने कहा कि प्रशासन आपके साथ है। आप इस दुःख की घड़ी में हिम्मत से काम लें। अंचलाधिकारी ने कहा कि सरकारी प्रावधान के तहत सभी सरकारी लाभ इस परिवार को मिलेगा, जिसकी प्रक्रिया आज ही शुरू कर दी जाएगी।उधर पंचायत मुखिया अनिता देवी, बीडीसी अभिनंदन शर्मा व उप मुखिया अतीस कुमार सिंह, जिलापार्षद प्रतिनिधि सुजीत कुमार रजक ने भी मौके पर पहुंच कर पीड़ित परिवार को सांतावना दिया। पिता व पुत्र का अंतिम संस्कार सतबहिनी झरना तीर्थ स्थल स्थित मुक्तिधाम में शनिवार को कर दिया गया। शव यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close