google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
उज्जैनमध्य प्रदेश

 “वो मुझे चैन से जीने नहीं दे रहा है, इसलिए अपनी जान दे रही हूं…” पढ़िए मजबूर मौत की खौफनाक कहानी

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

 मोहिनी सरधाना की रिपोर्ट 

उज्जैन। सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी ही लाइनें लिखकर एक युवती ने सुसाइड कर ली। घट्टिया क्षेत्र के बिछड़ोद की रहने वाली लड़की बुधवार रात फंदे पर मिली। उसने अपने ही दुपट्‌टे से फांसी लगाई थी। सुसाइड से पहले युवती ने सोशल मीडिया पर एक लड़के द्वारा परेशान करने की बात लिखी है। गुरुवार को उज्जैन में उसका पोस्टमार्टम किया गया।

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0106(1)

IMG-20220916-WA0106(1)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

उज्जैन के पास बिछ्ड़ोद की रहने वाली चांदनी के पिता रफीक ​​​​​खान ने फांसी लगाकर जान दी है। सोशल मीडिया पर पोस्ट पढ़कर परिजनों ने माता-पिता को कॉल किया। वे कमरे में पहुंचे तो बेटी फंदे पर लटकी मिली। घट्टिया पुलिस केस दर्ज कर पोस्ट के आधार पर प्रताप नाम के लड़के को तलाश रही है।

सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट…

मैं सुसाइड कर रही हूं। मेरे घरवालों का कोई दोष नहीं है। प्रताप नाम का लड़का मुझे परेशान करता है। मैं अब जीना नहीं चाहती। मेरी मौत के बाद उसे कड़ी सजा दिलवाना, क्योंकि उसने मुझे चैन से जीने नहीं दिया।

मृतका चांदनी के पिता रफीक ने कहा- रात में हमने साथ में खाना खाया था। कुछ दिनों से शायद वह उस लड़के के कारण परेशान थी। हमें उसने नहीं बताया। रात 1 से 3 बजे के बीच उसने अपने दुपट्‌टे से फांसी लगा ली। परिजनों के कॉल आने पर पता चला की, सोशल मीडिया पर उसने पोस्ट डाली है। हम कमरे में गए तो वह फंदे पर थी। अस्पताल ले गए तो डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close