google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
नई दिल्ली

सिगरेट से प्रेमिका को दागता था, क्रूर हंसी के पीछे की हैवानियत के 20 खौफनाक खुलासे

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

परवेज़ अंसारी की रिपोर्ट 

No Slide Found In Slider.

नई दिल्ली। श्रद्धा वालकर (जिसे वॉकर कहा जा रहा है) हत्याकांड(horrific Shraddha Walker murder case) में पुलिस की जांच तेजी से आगे बढ़ रही है। पुलिस को जो गवाह और सबूत मिले हैं, उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि अपनी Live In पार्टनर श्रद्धा का गला घोंटकर उसकी लाश के टुकड़े-टुकड़े करने वाले आफताब अमीन पूनावाला को कड़ी से कड़ी सजा हो सकती है। फांसी की उम्मीद भी की जा रही है। दिल्ली पुलिस ने पूनावाला के फ्लैट से पांच चाकू बरामद किए हैं। वहीं, एक दोस्त ने खुलासा किया है कि आफताब अपनी लिव इन पार्टनर को सिगरेट से जलाता था। पढ़िए इन्वेस्टिगेशन के कुछ चौंकाने वाले खुलासे…

5 चाकू मिले, लेकिन हत्या में इस्तेमाल आरी नहीं

  1. दिल्ली पुलिस ने महरौली हत्याकांड के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला के फ्लैट से पांच चाकू बरामद किए हैं। पूनावाला का गुरुवार को यहां फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (Forensic Science Laboratory-FSL) में करीब 8 घंटे तक पॉलीग्राफ परीक्षण( polygraph test) हुआ।
  2. हालांकि, पुलिस ने कहा कि कथित तौर पर पूनावाला ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर के शव को काटने के लिए जिस आरी का इस्तेमाल किया था, वह अभी तक बरामद नहीं हुई है।
  3. इस घटना ने एक राजनीतिक मोड़ भी ले लिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आरोपियों को कम से कम समय में कड़ी सजा देने का आश्वासन दिया है। वहीं, माकपा ने आरोप लगाया कि वाकर की उसके मुस्लिम प्रेमी द्वारा हत्या और उसके अंग-भंग करने का इस्तेमाल सांप्रदायिक प्रचार के लिए किया जा रहा है।
  4. पुलिस विभाग के सूत्रों के मुताबिक, बरामद चाकू को जांच के लिए एफएसएल भेजा गया है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि इनका इस्तेमाल अपराध में किया गया था या नहीं। एक सूत्र ने कहा कि अगर अपराध के दौरान इन चाकुओं का इस्तेमाल किया गया था, तो इसका पता फोरेंसिक जांच के बाद ही चलेगा, जिसमें समय लगता है।
  5. इधर, एफएसएल रोहिणी में दोपहर करीब 12 बजे शुरू हुआ पूनावाला का पॉलीग्राफ टेस्ट का सेकंड सेशन करीब आठ घंटे तक चला। उनसे करीब 40 सवाल पूछे गए। सूत्रों ने कहा कि पूनावाला ने जांच के दौरान सहयोग किया, लेकिन कुछ रिकॉर्डिंग स्पष्ट नहीं थी, क्योंकि वह छींक रहा था। इससे पहले बुधवार को परीक्षण नहीं किया जा सका था, क्योंकि पूनावाला को बुखार और सर्दी थी।
  6. पॉलीग्राफ सेशन के दौरान पूनावाला से हत्याकांड के बारे में विवरण पूछा गया था। जैसे कि वाकर को मारने के लिए उसे क्या प्रेरित किया गया था? क्या यह एक सुनियोजित घटना थी या उसने इसे गुस्से में किया था जैसा कि उसने अदालत में जज के सामने कहा था? जब से उन्होंने डेटिंग शुरू की, तब से घटना का सारा क्रम और कैसे उसने इतने भीषण तरीके से शरीर को ठिकाने लगाने का फैसला किया? एफएसएल के एक सूत्र ने कहा कि उससे यह भी पूछा गया कि उसने किस तरह के हथियार से उसके शरीर को कई हिस्सों में काट दिया? साथ ही इस मामले से जुड़े कई अन्य सवालों के बारे में भी उससे पूछा गया, जिससे मामले में आगे की जांच हो सके।
  7. मंगलवार(22 नवंबर) को आरोपी का पॉलीग्राफ टेस्ट का पहला सत्र हुआ था। पॉलीग्राफ टेस्ट को लाई डिटेक्टर टेस्ट भी कहा जाता है। एफएसएल रोहिणी की डायरेक्टर दीपा वर्मा ने कहा कि आरोपी को शुक्रवार को दोबारा बुलाया जा सकता है।

8.इन्वेस्टिगेशन से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि इस बीच दिल्ली पुलिस की एक टीम ने मोबाइल फोन की बरामदगी के लिए मुंबई के पास भायंदर क्रीक में तलाशी ली। उन्होंने कहा कि मीरा-भायंदर-वसई-विरार पुलिस के कर्मियों की मदद से तलाशी ली गई।

  1. राष्ट्रीय राजधानी की पुलिस टीम मुंबई के पास वसई इलाके में कैंप कर रही है, जहां पूनावाला और उसकी लिव इन पार्टनर वाकर एक हफ्ते रहे थे। जांचकर्ताओं ने वाकर और पूनावाला के दोस्तों, रिश्तेदारों और उनके द्वारा किराए पर लिए गए फ्लैटों के मालिकों के बयान भी दर्ज किए।
  2. वाकर के कॉलेज के एक दोस्त रजत शुक्ला ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि पूनावाला वाकर को सिगरेट जलाता था। फिर भी वह पुलिस के पास नहीं गई, क्योंकि वो उसे एक और मौका देना चाहती थी।
  3. रजत शुक्ला ने कहा कि पूनावाला के साथ रिलेशन में आने के बाद वाकर ने खुद को अपने परिवार और अपने सभी दोस्तों से दूर कर लिया था।
  4. रजत ने खुलासा किया कि 2021 में श्रद्धा ने अपनी एक करीबी महिला मित्र के साथ शेयर किया था कि आफताब ने उसकी पीठ पर सिगरेट से से जलाया। यह सुनकर महिला मित्र को बहुत बुरा लगा लगा था। रजत ने कहा कि इसके बाद वह महिला मित्र पूनावाला के पास गई और चेतावनी दी कि अगर वह वाकर के साथ बुरा व्यवहार करता रहा, तो वह पुलिस में शिकायत दर्ज करा देगी।
  5. उधर, केंद्रीय मंत्री शाह ने एक कार्यक्रम में कहा कि पूरे मामले पर उनकी नजर है। “मैं देश के लोगों से बस इतना कहना चाहता हूं कि जिसने भी ऐसा किया है, कानून और अदालतों के माध्यम से, दिल्ली पुलिस और अभियोजन पक्ष कम से कम समय में कड़ी सजा सुनिश्चित करेंगे। दिल्ली और मुंबई पुलिस के बीच तालमेल की कोई कमी नहीं है। लेकिन जो चिट्ठी सामने आई है, उसमें दिल्ली पुलिस की कोई भूमिका नहीं है।”
  6. बता दें कि महाराष्ट्र के एक थाने में श्रद्धा ने शिकायत पत्र दिया था कि आफताब उसे धमकी देता है कि उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर दिए जाएंगे। कहा गया कि पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वहां इसकी जांच होगी। उस समय हमारी सरकार(महाराष्ट्र) नहीं थी। जो भी इसका जिम्मेदार होगा, कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
  7. बता दें कि मुंबई भाजपा प्रमुख आशीष शेलार(Mumbai BJP chief Ashish Shelar) ने कॉल सेंटर की दिवंगत कर्मचारी श्रद्धा वाकर द्वारा नवंबर 2020 में पुलिस में की शिकायत पर कड़ी कार्रवाई करने में महाराष्ट्र पुलिस की कथित विफलता पर सवाल उठाया था। उन्होंने श्रद्धा द्वारा पुलिस को लिखे गए लेटर मामले की जांच कराने की मांग उठाते हुए सवाल किया कि ‘क्या वाकर के पत्र को जानबूझकर दबाया गया था और क्या पुलिस पर उनकी शिकायत की जांच नहीं करने का दबाव था?’
  8. उधर, माकपा(CPI-M) ने आरोप लगाया कि मुस्लिम प्रेमी द्वारा वॉकर की हत्या और उसके शव को टुकड़े-टुकड़े कर देने का इस्तेमाल सांप्रदायिक प्रचार के लिए किया जा रहा है, जबकि इसी तरह के मामलों में अपराधी और पीड़ित दोनों हिंदू थे, लेकिन भाजपा नेताओं ने चुप्पी साध रखी है।
  9. अंबेडकर अस्पताल के सूत्रों ने कहा कि पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा होने के बाद पूनावाला का मेडिकल परीक्षण किया जाएगा और परिणाम दो दिनों में आने की उम्मीद है। आरोपी की मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही उसका नार्को टेस्ट कराया जा सकता है।
  10. आफताब पूनावाला ने कथित तौर पर श्रद्धा वाकर (27) का गला घोंट दिया था और उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए थे। लाश के इन टुकड़ों को उसने दक्षिण दिल्ली के महरौली में अपने निवास पर लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर के फ्रिज में रखा और उसके बाद फेंकता रहा।

19. इस मामले में पुलिस को ऐसे कई अहम गवाह और सबूत हाथ लगे हैं, जो आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को फांसी के फंदे तक ले जा सकते हैं। अगर जुर्म साबित होता है, तो उसे फांसी होगी या कोई और सजा; इसका फैसला तो कोर्ट करेगा, लेकिन पुलिस की अब तक जांच सही दिशा में जा रही है। यह सनसनीखेज हत्याकांड  सिर्फ भारत नहीं; दुनिया के कई देशों में चर्चा का विषय बन गया है। संयुक्त राष्ट्र(United Nations) तक इस मामले को लेकर शॉक्ड है।

  1. लिव इन पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला ने कथित तौर पर 18 मई को श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी थी। फिर उसके शरीर के 35 टुकड़े करके दिल्ली के छतरपुर इलाके में जंगल में फेंक दिए थे। 

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close