बिहारमुजफ्फरपुरमोतिहारी

दिलचस्प प्रेम कहानी ; युवक प्रेम कर पीछा छुड़ाना चाह रहा था, लेकिन प्रेमिका ने ऐसा किया कि बेचारा सीधा दुल्हा बन आ गया ब्याहने 

रुपा मिश्रा की रिपोर्ट 

सीतामढ़ी: असम की युवती सुनीता ने सीतामढ़ी के चंदन से सच्चा प्यार की थी। उसने चंदन को ‘अपना’ मान बैठी थी, लेकिन उसे क्या पता कि वह जिसे जान से भी अधिक चाह रही है, वह उससे सच्चा प्यार नहीं करता है, बल्कि उसके प्यार को खिलवाड़ समझता है। युवती को युवक चंदन की बेरूखी एवं खिलवाड़ वाले प्यार की मंशा का पता तब चला, जब चंदन उसे छोड़कर अचानक फरार हो गया और घर पहुंच गया। बहरहाल, पुलिस ने थाना परिसर स्थित मंदिर में दोनों की शादी करा दी। गुरुवार को कई लोग उक्त शादी के गवाह बने।

तमिलनाडू में हुआ था आंखें चार

IMG_COM_20230613_0209_43_1301

IMG_COM_20230613_0209_43_1301

IMG_COM_20230629_1926_36_5501

IMG_COM_20230629_1926_36_5501

IMG_COM_20231006_1759_14_3141

IMG_COM_20231006_1759_14_3141

IMG_COM_20231127_2111_47_1471

IMG_COM_20231127_2111_47_1471

navbharat-times-105818370

navbharat-times-105818370

IMG_COM_20231210_2108_40_5351

IMG_COM_20231210_2108_40_5351

बताया गया है कि उड़ीसा के जासपुर जिला अन्तर्गत जाका थाना क्षेत्र के चदीखन गांव निवासी सुरेंद्र सेठी की पुत्री सुनीता कुमारी मार्च- 2022 मे तमिलनाडु के तिरुपुर में सिलाई-कटाई के काम के लिए आई, जहां उसकी मुलाकात सीतामढ़ी जिला के सोनबरसा थाना क्षेत्र के पकड़िया गांव के श्रीराम ठाकुर के 22 वर्षीय पुत्र चंदन ठाकुर से हुई। फिर दोनों में प्रेम-प्रसंग हुआ। बाद में दोस्ती गहरी हो गई और साथ रहने लगे। पांच माह पूर्व चंदन, प्रेमिका सुनीता को छोड़कर फरार हो गया। यह सुनीता को नागवार लगा। वह अपने प्यार को पाने के लिए तमिलनाडु से ढूंढते-ढूंढते चंदन के गांव पहुंच गई।

चंदन की खोज में पहुंची लुधियाना

घर पर कुछ दिन रहने के बाद चंदन अपने छोटे भाई के यहां लुधियाना पहुंच गया। इधर, घर पर चंदन से भेंट नहीं होने पर उसकी खोज में सुनीता लुधियाना पहुंच गई। काफी मशक्कत के बाद वह चंदन को ढूंढ ली। सहमति बनने के बाद दोनों लुधियाना से घर यानी सीतामढ़ी के लिए चले। हालांकि उस दौरान भी चंदन के दिल में सुनीता के लिए प्रेम, प्यार और दया नाम का कोई चीज नहीं था। इसका अहसास सुनीता को तब हुआ, जब चंदन बनारस में ट्रेन से कूद कर फरार हो गया। उसे बचाने में सुनीता भी जख्मी हो गई। अगले स्टेशन पर सुनीता उतरी। बनारस पहुंची और एक बार फिर चंदन को खोज निकाली। वहां से दोनों साथ-साथ सीतामढ़ी पहुंचे।

घर से चंदन फिर हो गया फरार

घर पर पहुंच कर चंदन एक बार फिर सुनीता को छोड़ कर फरार हो गया। तब आजिज आकर सुनीता थाना में पहुंची और पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी। सोनबरसा थाना पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर चंदन की खोज की। फिर थाना परिसर स्थित मंदिर में दोनों की शादी करा दी। शहनाई की गूंज के बीच हुई इस शादी के दौरान पुलिस कर्मियों के आलावा सरपंच पति राम कैलाश यादव, पंचायत समिति पति देवेन्द्र ठाकुर, पूर्व उप प्रमुख जय किशोर साह उर्फ ललित, मुखिया देवेंद्र राम, उपेन्द्र यादव, मिथलेश यादव और मनोज यादव समेत कई पुलिस पदाधिकारी भी मौजूद थे।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close
%d