google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
पटनाबिहार

भैंस साथ में और समर्थक पीछे पीछे; पंहुचे विधानसभा का टिकट मांगने, पढ़िए दिलचस्प मामला

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

प्रशांत झा की रिपोर्ट  

No Slide Found In Slider.

बिहार में जेडीयू-आरजेडी की सरकार बनने के बाद और तेजस्वी यादव के उप मुख्यमंत्री बनने के बाद आरजेडी के नेता बिहार के अलग-अलग जिलों से उन्हें बधाई देने के लिए पटना पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को तेजस्वी यादव को उपमुख्यमंत्री पद संभालने के लिए बधाई देने के लिए एक आरजेडी के नेता भैंस लेकर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने खुद को 2024 के लिए भावी प्रत्याशी भी बताया।

बिहार के हाजीपुर जिले के आरजेडी नेता सुभाष गोप शुक्रवार को तेजस्वी यादव को उपमुख्यमंत्री पद संभालने पर बधाई देने के लिए पटना पहुंचे थे। इस दौरान उनके साथ कार्यकर्ता भी आए हुए थे। सबसे अनोखी बात यह थी कि आरजेडी नेता अपने साथ एक भैंस लेकर पहुंचे थे, इस कारण वह सुर्खियों में छा गए। उन्होंने दावा किया कि अग्निवीर योजना के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भी वह भैंस लेकर डाकबंगले पर प्रदर्शन करने के लिए पहुंचे थे।

इस दौरान आरजेडी नेता ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह आरजेडी के वरिष्ठ नेता हैं। सुभाष गोप ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “मैं आरजेडी का वरिष्ठ नेता हूं और तेजस्वी यादव और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई देने के लिए आया हूं। मैं 2015 और 2020 का विधानसभा चुनाव लड़ चुका हूं। 2024 का लोकसभा या फिर 2025 के विधानसभा के टिकट की दावेदारी के लिए मैं आया हूं। अगर टिकट नहीं मिलता है तो निर्दलीय ताल ठोकूंगा। मैं चाहता हूं कि लोकसभा में वैशाली से या विधानसभा चुनाव का टिकट मिले।”

बता दें कि जबसे तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री का पद संभाला है, उसके बाद से ही वह काफी एक्टिव नजर आ रहे हैं और बीजेपी पर निशाना भी साध रहे हैं। शुक्रवार को उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था, “लगभग 1000 से ऊपर बीजेपी के विधायक हैं और 300 से भी ज्यादा सांसद हैं, किसी एक के घर भी छापा पड़ा? मतलब बीजेपी में जो लोग हैं वो दूध के धुले हैं क्या? जो बीजेपी में जाता है वो दूध का धुला हो जाता है।”

बिहार में कुछ दिन पहले आरजेडी के नेताओं और सांसदों के घर ईडी ने छापेमारी की थी और इस छापेमारी को तेजस्वी यादव से जोड़ा गया था। इसके बाद तेजस्वी यादव ने सफाई देते हुए कहा था कि यह छापेमारी सिर्फ उनकी छवि को धूमिल करने के लिए की जा रही है।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close