google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
Jalaunकोंच

….और विधायक ने लहरा दिया उल्टा तिरंगा ; अब समर्थक कह रहे षड्यंत्र

Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi Nepali Nepali Punjabi Punjabi Urdu Urdu

कमलेश कुमार चौधरी की रिपोर्ट 

जालौन। स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ को अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है जिले भर में तिरंगा यात्रा निकाली गई लेकिन कोच में भाजपा के एक पदाधिकारी की चूक की वजह से विधायक तक इंटरनेट मीडिया पर ट्रोल हो गए दरअसल भाजपा के नगर अध्यक्ष ने उल्टा तिरंगा फहरा दिया।

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0119

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0117

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0116

IMG-20220916-WA0106(1)

IMG-20220916-WA0106(1)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

DOC-20220919-WA0001.-1(6421405624112)

इसे तिरंगे का अपमान बताते हुए इंटरनेट मीडिया पर न सिर्फ भाजपा के उच्च पदाधिकारी को लेकर कमेंट किए गए बल्कि अपनी फेसबुक आईडी पर वहां के विधायक मूलचंद निरंजन ने वह फोटो लगा दी थी इस वजह से उनको भी ट्रोल किया जा रहा है।

कोंच नगर में  विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर निकाली गई रैली के दौरान कोंच नगर के भाजपा नगर अध्यक्ष सुनील लोहिया के हाथों तिरंगे का अपमान हुआ। उन्होंने लक्ष्मी बाई की प्रतिमा का माल्यार्पण करने के बाद तिरंगे को हाथों में लेकर उल्टा लहरा दिया, इतना ही नहीं उल्टे तिरंगे को पकड़े और लहराए जाने की तस्वीर माधौगढ़ के भाजपा विधायक मूलचंद निरंजन द्वारा अपने फेसबुक अकाउंट से भी शेयर कर दी गई, जिसे उनके द्वारा बीजेपी इंडिया, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर बीजेपी के कद्दावर नेताओं को भी टैग की गई।

जिसके बाद यह तस्वीरें इंटनेट मीडिया पर वायरल हो रही हैं साथ ही कई लोगों के इस पर कमेंट भी आ रहे हैं। इंटरनेट मीडिया पर फजीहत होने के बाद माधौगढ़ विधायक मूलचंद निरंजन ने अपने फेसबुक अकाउंट से उन तस्वीरों को डिलीट कर दिया लेकिन तब तक जिले भर में वह वायरल हो चुकी  थीं।

नगर अध्यक्ष सुनील लोहिया ने सफाई दी कि किसी ने षड्यंत्र के तहत उल्टा झंडा उनको पकड़ा दिया, और फोटो खींच लीं। हालांकि इंटरनेट मीडिया पर वायरल तस्वीरों के बाद उन्होंने भूल मानते हुए खेद भी जता दिया है।

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"
Back to top button
Close
Close