google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
बस्ती

बस्ती के लाल आनंद कुमार जनपद का नाम कर रहें हैं रौशन

ख्यातिलब्ध संस्था विश्व युवक केंद्र में बतौर कार्यक्रम अधिकारी कर रहें हैं काम

बृहस्पति पाण्डेय की रिपोर्ट

बस्ती। जनपद के माटी में जन्में तमाम लोगों नें अपनी काबिलियत के बदौलत बस्ती जिले का नाम रौशन किया है. इसी में एक नाम है आनंद कुमार का जो विभिन्न राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संस्थाओं में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए नई दिल्ली स्थित विश्व स्तरीय संस्था विश्व युवक केंद्र में कार्यक्रम अधिकारी के रूप में जिले का नाम भारत के फलक पर आगे बढ़ा रहें हैं.

आनंद कुमार मूल रूप से जिले के हर्रैया तहसील के सिकटहा पाण्डेय गाँव के रहने वाले हैं. वह इस गाँव के पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा गाँव के प्राइमरी स्कूल से पूरी कर यह उपलब्धि प्राप्त करने में सफलता पाई है. 

उनका बचपन बहुत ही कष्ट में बीता क्यों की असमय ही उनके माता पिता की मृत्यु हो गई लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अपने संघर्षों के बदौलत हाईस्कूल की शिक्षा छावनी बाजार स्थित अशोक इन्टर कालेज से पूरी की इसके बाद वह इन्टरमीडियट की पढ़ाई करने के लिए कानपुर चले गए, यहाँ उन्होंने कानपुर विश्वविद्यालय से बीसीए व पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी से एम सी ए की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद डिजिटल एक्सपर्ट के तौर पर कानपुर की एक संस्था में मौक़ा मिला. 

जहाँ डिजिटल पर उनकी पकड़ को देखते हुए डिजिटल इम्पावरमेंट फाउंडेशन द्वारा देश भर की पंचायतों को डिजिटल प्लेटफार्म पर लाने के लिए डिजिटल पंचायत नाम के एक कार्यक्रम की जिम्मेदारी सौपी गई. जिसकी जिम्मेदारी इन्होने बखूबी निभाते हुए देश की हजारों पंचायतों को डिजिटल प्लेटफार्म पर लाने में सफलता पाई.

आनंद कुमार के इस योग्यता को देखते हुए उन्हें दक्षिण एशिया लेवल के एक अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड कराने के लिए प्रभारी नियुक्त किया गया. जिसे उन्होंने लगभग छः वर्षों तक सफलता पूर्वक आयोजित कराया. इस अवार्ड में भारत, श्रीलंका, भूटान, नेपाल, बांगलादेश, सहित कई देश शामिल रहे. आनंद कुमार की इसी योग्यता को देखते हुए दो साल पहले नई दिल्ली स्थित ख्यातिलब्ध संस्था विश्व युवक केंद्र में बतौर कार्यक्रम अधिकारी काम करने का मौक़ा मिला,जिसे वह बखूबी निभा रहें हैं. यह संस्था महिलाओं के सशक्तिकरण, कृषि, आपदा प्रबंधन, पंचायतीराज, पर्यावरण, कौशल वृद्धि, सहित सतत विकास के लक्ष्यों को केंद्र में रख कर काम कर रही है. 

आनंद कुमार नें बताया की विश्व युवक केंद्र के चीफ कंट्रोलर उदय शंकर सिंह के निर्देशन में ग्रासरूट संगठनों को मजबूती प्रदान करने व समाज के वंचित समुदाय के सशक्तिकरण के मुहिम को आगे बढ़ा रहें हैं.

Tags

samachar

"ज़िद है दुनिया जीतने की" "हटो व्योम के मेघ पंथ से स्वर्ग लूटने हम आते हैं"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close