google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
औरंगाबाद

महिलाओं ने भक्तिभाव के साथ किया वट सावित्री का व्रत

गुरुवार को हसपुरा कनाप रोड में बरगद के पेड़ को पूजा-अर्चना करते महिलाएं

वीरेंद्र कुमार खत्री की रिपोर्ट

हसपुरा/ औरंगाबाद:पति की लंबी आयु और घर में सुख-शांति को लेकर औरंगाबाद के हसपुरा प्रखंड की महिलाएं गुरुवार को वट सावित्री का व्रत भक्तिभाव के साथ की।

रेफरल अस्पताल रोड में कुटिया पर, कनाप रोड, पचरुखिया, बड़ौखर, हैबसपुर, टाल, ब्लॉक कैंपस सहित दर्जनों गांवों के बरगद के पौधे के पास अक्षत, धूप, घी, सुहाग का समान, बांस का पंखा, फल सहित अन्य समाग्रियों के साथ महिलाएं पूजा-अर्चना कर सावित्री सत्यवान की कथा सुनी।

इस दौरान कच्चे सुत के धागों से बरगद के पेड़ का परिक्रमा किया। बरगद के पतों को अपने बालो में लगाई। सुनीता देवी, सीता देवी, गंगा देवी, पूजा देवी, सोनी देवी सहित सैंकड़ों सुहागन महिलाओं ने पति को प्रसाद खिलाई और बांस के पंखे से हवा दी।

कोइलवां श्रीराम सांई मंदिर के संस्थापक आचार्य पंडित लालमोहन शास्त्री ने बताया कि मान्यताओं के अनुसार इस दिन सावित्री नामक पतिव्रता स्त्री ने अपने पति सत्यवान को पूनजीर्वित करवाया था।

तभी से इस दिन को विवाहित महिला व्रत रखकर विधिवत पूजा आराधना करती है और उनके पति का रक्षा अनेक सकटों से होती है।

Back to top button
google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0    
Close
Close