google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0
उत्तर प्रदेशदेवरिया

डीएम ने कृषि से जुड़ी योजनाओं की, की समीक्षा

कृषकों का हित सर्वोपरि, इसमें न हो कोई कोताही_डीएम

सर्वेश द्विवेदी की रिपोर्ट

देवरिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन गूगल मीट के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, केसीसी एवं फसली ऋण तथा कृषि से जुड़े अन्य कृषक हित की योजनाओं की गहन समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत मृतक कृषकों का डाटा डिलीट कराए जाने के साथ ही उनके वारिसानो का डाटाबेस तैयार किए जाए, ताकि ऐसे पात्रों को इस योजना से आच्छादित किया जा सके। उन्होंने मुख्य राजस्व अधिकारी को इस कार्य को प्राथमिकता से कराए जाने के लिए लेखपालों को इससे जोड़े जाने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी श्री निरंजन ने केसीसी की समीक्षा के दौरान कृषि विभाग को निर्देश दिया कि एलडीएम के समन्वय से अधिक से अधिक केसीसी जारी किए जाने हेतु कार्य योजना बनाएं और उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित कराएं। उन्होंने यह भी कहा कि केसीसी के तहत पशुपालकों व मत्स्य पालकों को भी जोड़ा जाए और उनका भी केसीसी बनाया जाए। उन्होंने इस कार्य की प्रगति जायजा के लिए साप्ताहिक, पाक्षिक मीटिंग आयोजित कर इसका अनुश्रवण कराए जाने का निर्देश दिया।

अग्रणी बैंक प्रबंधक राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि केसीसी बनाए जाने के लिए सभी शाखा प्रबंधकों को अधिकृत कर दिया गया है और प्रत्येक सप्ताह में इसके लिए शिविर भी आयोजित किए जाएंगे। केसीसी का लक्ष्य पूर्ति कर लिया जाएगा। जिलाधिकारी ने उप कृषि निदेशक डाॅ. ए. के. मिश्र को निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना एवं केसीसी की साप्ताहिक समीक्षा मेरे स्तर से सुनिश्चित कराएं। केसीसी बनाने के लिए आयोजित किए जाने वाले शिविर का रोस्टर एलडीएम जारी कराए।

जिलाधिकारी ने इस दौरान कृषि कल्याण केंद्रों के निर्माण के लिए जमीन से जुड़े प्रकरणों की समीक्षा करते हुए उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि जमीन चिन्हाकन में जो भी दिक्कत आ रही हो, उसे दूर कराएं। उप जिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह द्वारा बताया गया कि कृषि कल्याण केंद्र बघौचघाट के निर्माण के लिए जमीन चिन्हित कर लिया गया है। भागलपुर , लार एवं रुद्रपुर में जमीन चिन्हाकन किए जाने हैं। इसके लिए उन्होंने संबंधित उप जिलाधिकारियों को तत्कालिक रूप से कार्यवाही किए जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि किसानों के हित से जुड़ी महत्वपूर्ण योजनाओं में किसी प्रकार की कोई शिथिलता नहीं होनी चाहिए। कृषकों का हित सर्वोपरि है,इसलिए जो भी योजनाएं संचालित है वह पूरी तन्मयता व तत्परता से उन तक पहुंचने चाहिए, जिससे की कृषकों की आय बढ़ सके।

आयोजित इस बैठक में सीआरओ अमृत लाल बिंद, डीडी कृषि डाॅ. ए के मिश्र, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह, सलेमपुर ओम प्रकाश तथा जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल, एलडीएम राकेश श्रीवास्तव सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी आदि जुड़े रहे।

News desk

हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारा मोबाइल एप डाउनलोड करें - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.newswp.samachardarpan24
Back to top button
google.com, pub-2721071185451024, DIRECT, f08c47fec0942fa0    
Close
Close